शनिवार, 30 अगस्त 2014

दिमाग की तरंगों से फ्रांस भेजा संदेश


photo googal

मोबाइल या इंटरनेट को भूल जाइए, जल्द आप मस्तिष्क के जरिए दोस्तों और सहकर्मियों को संदेश भेज सकेंगे। वैज्ञानिकों ने तकनीक के क्षेत्र में बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए मस्तिष्क से संदेश भेजने का सफल प्रयोग किया है।
इस प्रयोग में एक भारतीय व्यक्ति ने फ्रांस में मौजूद अपने साथी को मस्तिष्क की तरंगों के जरिए संदेश भेजा है। स्पेन के तीन और फ्रांस के एक वैज्ञानिक संस्थान के शोधकर्ता इस प्रयोग पर काम कर रहे हैं।
प्लस वन जर्नल में प्रकाशित शोध रिपोर्ट के मुताबिक यह प्रयोग मस्तिष्क तंरग संवेदी मशीन पर आधारित था। इससे पहले मस्तिष्क तंरगों से कंप्यूटर गेम खेलने और हेलीकॉप्टर को नियंत्रित करने जैसे प्रयोग हुए हैं, लेकिन पहली बार इसका इस्तेमाल दो मस्तिष्कों के बीच संदेश भेजने में किया गया।
ऐसे किया प्रयोगजब हम कुछ सोचते हैं, तो मस्तिष्क में मौजूद न्यूरॉन धीमी विद्युत तरंगों को जन्म देता है। इलेक्ट्रोएनसेफ्लोग्राफी (ईईजी) मशीन इन विद्युत तरंगों को रिकॉर्ड करने में सक्षम होती है। प्रयोग के दौरान भारतीय ने दो शब्द सोचे ‘होला’ और ‘सिआ’। होला फ्रेंच शब्द है, जिसका अर्थ है हैलो। वहीं स्पैनिश शब्द सिआ अभिवादन में इस्तेमाल होता है। ईईजी ने इसे रिकॉर्ड किया और एक कंप्यूटर ने अपनी बाइनरी भाषा में बदल दिया। यह संदेश इंरटनेट से रिसीवर के पास पहुंचा। रिसीवर के मस्तिष्क से जुड़ी मशीन ने संदेश को डिकोड कर दिया, जिससे वह इसे सफलतापूर्वक समझ सका।

sabhar : http://www.livehindustan.com/

4 टिप्‍पणियां:

vigyan ke naye samachar ke liye dekhe