शुक्रवार, 12 जुलाई 2013

दस साल बाद कैसा होगा आपका मकान?

भविष्य का घर
भविष्य के घर की झलक

जिस रफ्तार के तकनीक बदल रही है, उससे इंसान के रहन-सहन के तौर तरीके में भी बदलाव आ रहे हैं.
कंप्यूटर क्षेत्र की नामी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने 'स्पेस ऑफ द फ्यूचर' नाम के अपने मॉडल को नए रूप में पेश किया है, जो दिखाता है कि आज से पांच या दस साल बाद जिंदगी किस तरह की होगी.

वॉशिंगटन में माइक्रोसॉफ्ट के मुख्यालय में भविष्य के इस मकान को बनाया गया है. इसमें अत्याधुनिक तकनीक से आपकी शक्ल को देख कर या फिर एक इशारा पाते ही खाना पकाने जैसे काम भी बेहद आसानी हो जाते हैं.
माइक्रोसॉफ्ट में इस अहम प्रोजेक्ट से जुड़े एंटन एंड्रयूज ने बीबीसी को इस मकान की सैर कराई. एंड्रयूज़ ने इस मकान में एक खास डेस्क दिखाई.
ये डेस्क आपकी ज़रूरत के हिसाब से ऊपर या नीचे हो जाएगी जिससे आप आसानी से काम कर सकें. फिर देखते ही देखते वो डेस्क कंप्यूटर स्क्रीन के तौर पर खुल कर सामने आती है.

डेस्क में छिपी जानकारियाँ

भविष्य का घर
इसमें आप कुछ चीजों को अपने हिसाब से आकार दे सकते हैं
ये स्क्रीन व्यक्ति का चेहरा पहचान कर उसके काम से संबंधित चीजें स्क्रीन पर पेश करती है. एंड्रयूज़ के मुताबिक़ आगे चलकर हर सूचना के अंदर ही कुछ कमांड्स होंगी यानी एक सूचना से दूसरी और कई जानकारियाँ आप वहाँ पा सकेंगे.
ये कमांड कई तरह के हो सकते हैं जैसे रीवाइंड, जहाँ आप जिस विषय पर काम कर रहे हैं उससे जुड़ी पिछली जानकारियाँ आपको मिल जाएँगी. एंड्रयूज़ के अनुसार साथ ही इसमें अपने आप सर्च जैसी सुविधा होगी. यानी अगर आप किसी विषय पर काम कर रहे हैं तो उससे जुड़ी बाक़ी जानकारियाँ ख़ुद ही उस डेस्क पर आपके सामने आती रहेंगी.
फिर आपने जैसे सर्च की जानकारी दिखाने को कहा तो उससे जुड़े वीडियो, तस्वीरें और बाक़ी जानकारियाँ सामने आ जाएंगी.
अब तक दफ़्तरों या घरों में अगर सफ़ेद या काला बोर्ड रहता है जिस पर आप कुछ लिख सकते हैं तो आगे चलकर उसकी जगह टच स्क्रीन वाले पैनल आ जाएँगे और सारा काम उसी पर होगा.

भविष्य पर नजर

भविष्य में इस तरह की सामग्री में कई तरह की कमांड निहित होंगी. इनमें कुछ आपको इस सामग्री की पिछली अवस्था दिखाएंगी तो कुछ कमांड उस सामग्री को लगातार सर्च के जरिए अपडेट भी करती रहेंगी. इस सर्च में संबंधित वीडियो और कांफ्रेंस होंगे.
"इस मॉडल में कई तरह की तकनीकों का मिश्रण है जिन्हें वैज्ञानिकों और इंजीनियरों ने तैयार किया है. तो ये साइंस फिक्शन नहीं है, बल्कि असल चीजें हैं जिन्हें वास्तव में विकसित किया जा रहा है."
एंटन एंड्रयूज, माइक्रोसॉफ्ट
एंड्रयूज बताते हैं, “इस मॉडल में कई तरह की तकनीकों का मिश्रण है जिन्हें वैज्ञानिकों और इंजीनियरों ने तैयार किया है. तो ये साइंस फिक्शन नहीं है, बल्कि असल चीजें हैं जिन्हें वास्तव में विकसित किया जा रहा है.”
ये आपकी सृजनशीलता को भी नए आयाम देगा. किसी भी चीज को आप एक स्कैनर के सामने रख कर अपने हाथों को जिस प्रकार घुमाते जाएंगे वो वैसा ही रूप लेती जाएगी. स्क्रीन पर उसका थ्री डी मॉडल आपको दिखता रहेगा.
इस तरह अपने मकान में रखे किसी पॉट या गुलदान को जो चाहे रंग रूप दे सकते हैं.

किचन के मज़े

अगर भूख लगी है तो इस मकान की किचन आपका पसंदीदा खाना पेश करने का पूरा प्रयत्न करेगा.
मान लीजिए आप एक शिमला मिर्च लेकर एक स्कैनर के सामने खड़े हो जाते हैं, तो वो आपको उन तमाम व्यंजनों के नाम और तस्वीरें दिखा देगा जो आप उस शिमला मिर्च से बना सकते हैं.
भविष्य का घर
कंप्यूटर को लगातार अक्लमंद बनाया जा रहा है
पसंदीदा डिश तय करने के बाद जैसे ही आप कुकिंग टेबल की तरफ बढ़ते हैं, तो वहां उस डिश में इस्तेमाल होने वाली सामग्री के चित्र उभर आते हैं ताकि आपसे कुछ छूटे न.
साथ ही उसे बनाने की विधि आपको बताई जाती है. सब कुछ करने के बाद जब आप उसे चूल्हे पर चढ़ाते हैं तो उसका तापमान डिश के मुताबिक तय होता है.

क्या कहते हैं गेट्स

वैसे माइक्रोसॉफ्ट शुरू से ही कंप्यूटर जगत की नामी कंपनी रही हैं और इसके संस्थापक बिल गेट्स दुनिया के सबसे चर्चित लोगों में से एक माने जाते हैं.
जब उनसे हाल ही में पूछा गया कि क्या वो मुख्य कार्यकारी स्टीव बॉलमर के नेतृत्व में कंपनी के प्रदर्शन से खुश हैं तो उन्होंने कहा, “स्टीव के नेतृत्व में साल भर में कई कमाल की चीजें हुई हैं. लेकिन क्या ये पर्याप्त है? नहीं.”
कंपनी के शेयरों के दाम वहीं हैं जहां पांच साल पहले थे जबकि उनकी प्रतिद्वंद्वी कंपनियों एपल, अमेजन और सैमसंग के शेयरों के दाम दोगुने से ज्यादा हो गए हैं.

ऐसे में भविष्य का मकान पेश करने जैसे प्रोजेक्ट नई चीजें उतारने की माइक्रोसॉफ्ट की प्रतिष्ठा को मजबूत करेंगे.

5 टिप्‍पणियां:

vigyan ke naye samachar ke liye dekhe