सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

कैसे हुआ ब्रह्माण्ड का निर्माण



photo : vigyanpragti

वैज्ञानिक स्टीफन हाकिंग्स का कहना है की ब्रह्माण्ड की संग्रचना के पीछे भौतिक के नियम है न कि कोई ईश्वरीय सरीखी कोई सर्व सक्ति इस पर विभिन्य वैज्ञानिकों धर्मगुरूओं या स्वयं ब्यक्ति कि भिन्य राय हो सकती है परन्तु इस सदी के महान इस वैज्ञानिक कि राय को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता यह बयान उनकी जल्दी ही प्रकाशित होने वाली पुस्तक ' द ग्रैंड डिजाईनर के आगमन से पहले आये है ब्रमांड का निर्माण बिग बैंक यानी महा विस्फोट से हुआ है इस अवधारणा के मुताबिक बिग बैंक १३.७ अरब साल पहले हुआ १९८८ में अपनी पुस्तक ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ़ टाइम में इन्होने ईश्वर को स्वीकार किया था ये लिखे थे कि यदि हम प्रकृति के बुनियादी नियमो को तलाश लेते है तो हमें ईश्वर के मस्तिष्क का पता चल सकता है ब्रमांड के निर्माण में जो सिधांत सबसे ज्यादा प्रचलित है वो है बिग बैंक का सिधांत इसके अनुसार १३.७ अरब साल पहले ब्रमांड एक छोटे बिंदु के रूप में था इसमे अचानक महा विस्फोट हुआ और ब्रमांड कि उत्पत्ति हुई तो द्रब्य और ऊर्जा का फैलाव हुआ द्रब्य और ऊर्जा के साथ- साथ स्पेश और टाइम का विस्तार आरम्भ हुआ महाविश्फोट के बाद शुरूआती छड़ो में ब्रमांड का तापमान बहूत ऊँचा था उस समय में गुरूत्वाकर्षण बल बिधुत चुम्बकीय बल , प्रबल बल , और कमजोर बल जिनसे ब्रमांड के सभी पिंड आपस में बधे रहते है उस समय एक थे ब्रमांड के उत्पत्ति के तीन मिनट बाद ही तापमान इतना घट गया कि प्रबल बल सक्रिय हो गया इस बल ने प्रोटानों और नयूट्रानो को बाँध कर नाभिको का निर्माण कर दिया इसके लगभग ५ लाख वर्ष बाद विधुत चुम्बकीय बल सक्रिय हुआ और इसने नाभिको और इलेक्ट्रानो को बाँध कर परमाणु का निर्माण कर दिया इसके बाद जब तारे ग्रह उपग्रह व दूसरे अकासीय पिंड आस्तित्व में आये तो गुरूत्वाकर्षणबल सक्रिय हो गया अब वैज्ञानिक प्रयोगों में इन्हें आपस में जोड़ने का प्रयास कर रहे है इस सिधांत को सिध्य करने के लिए बनाये गए लार्ज हैद्रान कोलाएजर का प्रयोग सफ़ल रहा है परमाणुओं को तोड़ने कि छमता रखने वाली इस मशीन ने दो प्रोटान परमाणु कि तरंगो को तीन गुना तेजी से आपस में टकराने में सफलता अर्जित कि है इससे आज से १३.७ अरब साल पहले का वह वातावरण तैयार हो गया जब पूरा ब्रह्माण्ड बना था अभी प्रयोग चल रहे है हो सकता है आने वाले समय में कुछ चौकाने वाले तथ्य प्राप्त हो जीवन एवम प्रकृति कि लडाई आगे आगे तक चलेगी हमें जीवन को बचा के रखना है

टिप्पणियाँ

  1. Your blog is great
    If you like, come back and visit mine: http://b2322858.blogspot.com/

    Thank you!!Wang Han Pin(王翰彬)
    From Taichung,Taiwan(台灣)

    उत्तर देंहटाएं
  2. " बिगबेंग का सिधांत इसके अनुसार १३.७ अरब साल पहले ब्रमांड एक छोटे बिंदु के रूप में था इसमे अचानक महा विस्फोट हुआ और ब्रमांड कि उत्पत्ति हुई "

    हिन्दू धर्म शास्त्रो मे कई जगह बताया गया है की ब्रह्मांड की उतपत्ती महानाद ( महाविस्फोट या बिगबेंग ) से हुई है । यह स्टीफन हकिंग्स ने नया क्या बताया है । कलियुग के प्रारम्भ तक लगभग इस विज्ञान की सूक्ष्मता को प्रत्येक ब्राह्मण जानता था । धर्म शास्त्रो मे कहा जाता है की सृष्टी के अंत या प्रलय काल मे भी वही महानाद होगा ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. वेशक वैज्ञानिक दृष्टि कोण अलग रहा हो ....लेकिन यह अंतिम सच्चाई नहीं है ...शक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  4. आदरणीय 25 50 बरस इंतजार करें ये थ्‍योरी भी बदल जायेगी।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही अच्‍छी जानकारी आपने रखी है, आपका ब्‍लॉग भी बहुत अच्‍छा लगा, आशा है कि आप ब्‍लॉग पर हमेशा अच्‍छी जानकारियों का समावेश कर लोगों को ज्ञान बांटेगे,

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर ! उम्दा प्रस्तुती! ! बधाई!
    आपको एवं आपके परिवार को होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    उत्तर देंहटाएं
  7. धार्मिक मुद्दों पर परिचर्चा करने से आप घबराते क्यों है, आप अच्छी तरह जानते हैं बिना बात किये विवाद ख़त्म नहीं होते. धार्मिक चर्चाओ का पहला मंच ,
    यदि आप भारत माँ के सच्चे सपूत है. धर्म का पालन करने वाले हिन्दू हैं तो
    आईये " हल्ला बोल" के समर्थक बनकर धर्म और देश की आवाज़ बुलंद कीजिये...
    अपने लेख को हिन्दुओ की आवाज़ बनायें.
    इस ब्लॉग के लेखक बनने के लिए. हमें इ-मेल करें.
    हमारा पता है.... hindukiawaz@gmail.com
    समय मिले तो इस पोस्ट को देखकर अपने विचार अवश्य दे
    देशभक्त हिन्दू ब्लोगरो का पहला साझा मंच
    हल्ला बोल

    उत्तर देंहटाएं
  8. कुरआन में भी लिखा था बिग - बंग के बारे में

    परा नंबर १७ आयत नंबर २६ क्या काफ़िरो ने नहीं देख की जमीन और आसमान दोनों पहले मिले हुए थे बाद में हमने जुदा - जुदा किए दूसरी जगह रिवायत है की जो कुछ जमीन से आसमान के अन्दर देखते हो वो सब ६ दिनों में बना है |

    जमीन पृथ्वी को कहते हे यह आप जानते हो आसमान उसे कहते हे जिसमे जंद तारे व निहारिका,आकाश गंगा आती है यह भी आप जानते हो
    मिले हुए से अर्थ है की सारा कुछ मिला हुआ था ब्रहमांड के रचना ने आज हम देखते है या जानते है और इस्लाम धर्म में यह भी कहते है की आसमान सात है | यह भी इस्लाम की बात जल्द है साबित होगी | हम मुस्लिम ने तो साबित कर दी और इश्वर ने बता दी | लेकिन इंसान को यकीन नहीं |
    यकीन का दुसरा नाम ईमान है

    उत्तर देंहटाएं
  9. कुरआन में भी लिखा था बिग - बंग के बारे में

    परा नंबर १७ आयत नंबर २६ क्या काफ़िरो ने नहीं देख की जमीन और आसमान दोनों पहले मिले हुए थे बाद में हमने जुदा - जुदा किए दूसरी जगह रिवायत है की जो कुछ जमीन से आसमान के अन्दर देखते हो वो सब ६ दिनों में बना है |

    जमीन पृथ्वी को कहते हे यह आप जानते हो आसमान उसे कहते हे जिसमे जंद तारे व निहारिका,आकाश गंगा आती है यह भी आप जानते हो
    मिले हुए से अर्थ है की सारा कुछ मिला हुआ था ब्रहमांड के रचना ने आज हम देखते है या जानते है और इस्लाम धर्म में यह भी कहते है की आसमान सात है | यह भी इस्लाम की बात जल्द है साबित होगी | हम मुस्लिम ने तो साबित कर दी और इश्वर ने बता दी | लेकिन इंसान को यकीन नहीं |
    यकीन का दुसरा नाम ईमान है

    उत्तर देंहटाएं
  10. Peter Andre was spotted looking chipper wearing the Carrera Champion while walking through London. Peter is one of the UK's most favourite Australians and an all round ray ban outlet nice guy so it's good to see him out and about again after a turbulent patch breaking up with his ex-wife Katie Price.Mothers Day isn't far rbodm off, and to celebrate the Celebrity Mum of the Year award is given to the most charming Mum. Peter recorded a message for the mothers of ray ban one day sale 90% off Britain saying they deserve an award for all the hard work they do. But Katie Price just so happened to win the award - did he ray ban clubmaster know she was going to win it? We don't think he'd have so many kind words if so.Carrera are the ideal brand for Peter Andre. Athletic, cheap ray ban sunglasses preened and never looking shabby, both Carrera and Peter look like they're born to be on the beach soaking up the sunshine. And judging by his cheap ray ban sunglasses sale under 30$ skin colour, that's exactly where he's been.
    Here at Sunglasses Shop we don’t believe in only buying sunglasses and wearing them for that particular season. Instead Ray Ban Outlet we like to be creative with our wardrobes and mix and match our old Wayfarers with new separates. And it would appear we’re not the only ray ban aviators ones.Jameela Jamil, visiting the Radio One studio in London, wore her favourite pair of Ray-Ban 2140 Wayfarers, which have a super luxe frame and iconic shape ray bans on sale that’ll last you from season to season.The presenter is often seen sporting these classic frames which Ray-Ban offers in a range of colours that add a ray ban sunglasses touch of glamour to any outfit. Sunglasses Shop loves.
    With this sophisticated little number, Nathan Lane’s sunglasses style is as on the money as the man’s cheap ray bans for sale acting. Sunglasses Shop spotted Mr Lane attending the Late Show with David Letterman in a pair of one of the most coveted sunglasses styles of the ray ban store moment. And round lenses, generous acetate, hinge pins and a keyhole bridge is a look best served authentic. The sunglasses created by Cutler and Gross are Ray Ban Sale

    उत्तर देंहटाएं
  11. “We call them photo stylists, and they bring in a lot of money with sales. They will do one posting, and every girl who follows them buys something,” coach outlet online says Bonillo, adding that a posting can result in up to $15,000 in sales a day during the holiday season.Scouten, a 23-year-old out of Natchitoches, La., started her michael kors outlet @karaleels account in the fall of 2013, posts almost daily, and says that perks, such as a big fan base and free doll clothes, are simply gravy. It’s michael kors outlet online her indulging in her passion: dolls and photography.“I don’t really follow fashion blogs, but I keep an eye on what’s popular and new styles,” says Scouten, who has Longchamp Handbags about 30 dolls and more clothing for her models than she does for herself. “Most of what I do is very child-like or whimsical, so I follow kids’ michael kors outlet online fashion and photography. A lot of my inspiration comes from wishing I was still a child.”Scouten has a bachelor’s degree in liberal arts and marketing and says her Michael Kors Handbags Instagram success is a fluke. She eventually wants to become a photographer. She says her friends are supportive.“All of my closest friends know about my doll photography and michael kors outlet are very supportive. I’ve managed to talk a few into taking trips to the American Girl store and assisting me on some of my shoots. I’m not very Coach Outlet Store Online

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

vigyan ke naye samachar ke liye dekhe

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

समय क्या है ? समय का निर्माण कैसे होता है?

भौतिक वैज्ञानिक तथा लेखक पाल डेवीस के अनुसार “समय” आइंस्टाइन की अधूरी क्रांति है। समय की प्रकृति से जुड़े अनेक अनसुलझे प्रश्न है। समय क्या है ?समय का निर्माण कैसे होता है ?गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव से समय धीमा कैसे हो जाता है ?गति मे समय धीमा क्यों हो जाता है ?क्या समय एक आयाम है ?अरस्तु ने अनुमान लगाया था कि समय गति का प्रभाव हो सकता है लेकिन उन्होने यह भी कहा था कि गति धीमी या तेज हो सकती है लेकिन समय नहीं! अरस्तु के पास आइंस्टाइन के सापेक्षतावाद के सिद्धांत को जानने का कोई माध्यम नही था जिसके अनुसार समय की गति मे परिवर्तन संभव है। इसी तरह जब आइंस्टाइन साधारण सापेक्षतावाद के सिद्धांत के विकास पर कार्य कर रहे थे और उन्होने क्रांतिकारी प्रस्ताव रखा था कि द्रव्यमान के प्रभाव से अंतराल मे वक्रता आती है। लेकिन उस समय आइंस्टाइन  नही जानते थे कि ब्रह्माण्ड का विस्तार हो रहा है। ब्रह्माण्ड के विस्तार करने की खोज एडवीन हब्बल ने आइंस्टाइन द्वारा “साधारण सापेक्षतावाद” के सिद्धांत के प्रकाशित करने के 13 वर्षो बाद की थी। यदि आइंस्टाइन को विस्तार करते ब्रह्माण्ड का ज्ञान होता तो वे इसे अपने साधारण …

पहला मेंढक जो अंडे नहीं बच्चे देता है

वैज्ञानिकों को इंडोनेशियाई वर्षावन के अंदरूनी हिस्सों में एक ऐसा मेंढक मिला है जो अंडे देने के बजाय सीधे बच्चे को जन्म देता है.



एशिया में मेंढकों की एक खास प्रजाति 'लिम्नोनेक्टेस लार्वीपार्टस' की खोज कुछ दशक पहले इंडोनेशियाई रिसर्चर जोको इस्कांदर ने की थी. वैज्ञानिकों को लगता था कि यह मेंढक अंडों की जगह सीधे टैडपोल पैदा कर सकता है, लेकिन किसी ने भी इनमें प्रजनन की प्रक्रिया को देखा नहीं था. पहली बार रिसर्चरों को एक ऐसा मेंढक मिला है जिसमें मादा ने अंडे नहीं बल्कि सीधे टैडपोल को जन्म दिया. मेंढक के जीवन चक्र में सबसे पहले अंडों के निषेचित होने के बाद उससे टैडपोल निकलते हैं जो कि एक पूर्ण विकसित मेंढक बनने तक की प्रक्रिया में पहली अवस्था है. टैडपोल का शरीर अर्धविकसित दिखाई देता है. इसके सबूत तब मिले जब बर्कले की कैलिफोर्निया यूनीवर्सिटी के रिसर्चर जिम मैकग्वायर इंडोनेशिया के सुलावेसी द्वीप के वर्षावन में मेंढकों के प्रजनन संबंधी व्यवहार पर रिसर्च कर रहे थे. इसी दौरान उन्हें यह खास मेंढक मिला जिसे पहले वह नर समझ रहे थे. गौर से देखने पर पता चला कि वह एक मादा मेंढक है, जिसके साथ कर…

मिला हमेशा जवान रहने का नुस्खा

एक प्रोफेसर का दावा है कि उसने दक्षिण जापान के लोगों की लंबी उम्र का राज ढूंढ निकाला है. यह राज एक खास पौधे के अर्क में छुपा है, जिसे स्थानीय लोग "गेटो" के नाम से जानते हैं. ओकिनावा की रियूक्यूस यूनिवर्सिटी में कृषि विज्ञान के प्रोफेसर शिंकिचि तवाडा ने दक्षिण जापान के लोगों की लंबी उम्र का राज ढूंढ निकाला है. तवाडा को विश्वास है कि गहरे पीले-भूरे से रंग का दिखने वाला एक खास पौधे "गेटो" का अर्क इंसान की उम्र 20 फीसदी तक बढ़ा सकता है. तवाडा कहते हैं, "ओकिनावा में कई दशक से लंबी उम्र तक जीने का दर दुनिया में सबसे ज्यादा रहा है और मुझे लगता है कि इसका कारण जरूर यहां के परंपरागत खान पान में ही छुपा है." काइको उहारा 64 साल की हैं लेकिन अपनी उम्र से कहीं कम की दिखती हैं. इसका राज वह गेटो को बताती हैं. काइको अपनी दुकान में ऐसे सौंदर्य उत्पाद भी बेचती हैं जिनमें गेटो ही मुख्य घटक होता है, "मैं गेटो का काढ़ा पीती हूं, जो मुझे तरो ताजा कर देता है, और मैं इस पौधे के अर्क को पानी में घोल कर लगाती हूं जिससे झुर्रियां भी कम होती हैं." दक्षिण जापान में जीते है…